Wednesday, September 1, 2010

ये जुल्फे अब यादें बन जायेंगी

माधव का मुंडन संस्कार तीन सितम्बर २०१० को हरिद्वार में होना तय हो चुका है . माधव की दादी , बड़ी मम्मी और बुआ आरा से उपासना एक्सप्रेस से सीधे हरिद्वार पहुचेंगी .माधव की लंबी -लंबी सिल्की जुल्फे अब बस एक -दो दिन की ही मेहमान है .

माधव के बाल वैसे तो बचपन से ही बड़े थे , हर व्यक्ति जो माधव को देखता , माधव के लंबे काले घने बालों के बारे में जरुर पूछता , मै शान से कहता था की माधव के बाल मेरे जैसे है . नहलाने के बाद माधव के बालो को चोटी करना एक काम हुआ करता था अब ये काम बस एक याद बनकर रह जायेंगा , साथ में कई और चीजे भी छूट जायेंगी और कुछ बाते सिर्फ यादें बन कर रह जायेंगी . माधव के बाल कट जायेंगे ,विद्यारंभ संस्कार होगा और फिर माधव स्कुल जाने लगेगा . सोच कर पता नहीं क्यों दुःख होता है , लगता है माधव बड़ा ना हो , छोटा ही रहे, हमेशा मेरे गोद में रहे . ऑफिस से घर आउ तो वैसे ही दौड़ा दौड़ा मेरे पास आये. पर जीवन को आगे बढ़ना पड़ता है , परिवर्तन प्रकृती का नियम है .माधव का मुंडन मेरे लिए एक भावुक लम्हा होगा , अभी से ही माधव में नए लुक के बारे में कल्पना करता हूँ, फिर दार्शनिक अंदाज में सोचता हूँ, जो होगा अच्छा ही होगा .

माधव , मेरे बेटे, I Love You

मृत्युंजय कुमार राय










सितम्बर २००९ की एक तस्वीर

16 comments:

शुभम जैन said...

areee...in balo se to madhav waikai me bilkul kanahiya lagta hai...janmashtmi per use kanaha bana kar ek achchi si foto nikal lijiye...dubara to aise baal aane se rahe...

god bless madhav..

रावेंद्रकुमार रवि said...

----------------------------------------
सचमुच बहुत याद आएँगी,
जुल्फें ये प्यारी-प्यारी!

----------------------------------------

राज भाटिय़ा said...

अरे अरे इतने भावुक मत होये, मजबुत बने,अगर बच्चे का भविष्य उज्जबल बनाना चाहते है तो आप को कुछ सख्त भी होना पडेगा, डाआंट भी पिलानी पडेगी, आज का बच्चा कल बडा तो होगा ही ना, वेसे आप को हमेशा माधब बच्चा हि लगेगा, चाहे कितना भी बडा हो जाये, ओर जब भी उदास होगा तो मां ओर बाप की गोद मै ही आयेगा, चाहे इस देश का प्रधान मत्री ही क्यो ना बन जाये, मजबुत बने, ओर जल्दी से हमे इस के मुंडन की फ़ोटो भी दिखाये, कुछ जुल्फ़े समभाल कर रख ले याद गार के रुप मै, आप को माधब के मुडनं की शुभकामनये, बधाई आने पर दुंगा.माधब को प्यार.
कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ

नीलम शर्मा अंशु said...

हमारे शोनामोनी कान्हा को जन्माष्टमी की मुबारकबाद।

मुंडन संस्कार हेतु आपको सपरिवार शुभकामनाएं !

वैसे इस वेशभूषा में कान्हा कभी-कभी राधिका जैसा भी दिखता है।

राज भाटिया जी की अभिव्यक्ति से भी सहमत हूँ।

RAJWANT RAJ said...

ek kajal ka tika lga dena .

Akshita (Pakhi) said...

यह तो सबके साथ होता है...फिर तो नए-नए बाल भी उगेंगे.
श्री कृष्ण-जन्माष्टमी पर ढेर सारी बधाइयाँ !!
________________________
'पाखी की दुनिया' में आज आज माख्नन चोर श्री कृष्ण आयेंगें...

डा. अरुणा कपूर. said...

....जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई!.... सब मंगलमय हो!

Babli said...

आपको एवं आपके परिवार को श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें !
बहुत बढ़िया ! उम्दा प्रस्तुती!

नीरज जाट जी said...

उपासना एक्सप्रेस से हरिद्वार पहुंच रहे हो। मतलब आजकल दिल्ली में नहीं हो।
मृत्युंजय जी, यह तो नियम है। इसमें ज्यादा भावुक होने की जरुरत नहीं है। खैर, मन को जोर तो पडता ही है। अब मैं भी सोच रहा हूं कि नये लुक में माधव कैसा लगेगा।

आलोक मोहन said...

मुंडन संस्कार हेतु आपको सपरिवार शुभकामनाएं !
फिर तो नए-नए बाल भी उगेंगे.

sunil devidas said...

mundan ki badhaiya

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (ਦਰ. ਰੂਪ ਚੰਦ੍ਰ ਸ਼ਾਸਤਰੀ “ਮਯੰਕ”) said...

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर बधाई और शुभकामनाएँ!
--
बाल चर्चा मंच पर भी आपकी चर्चा है!
--
http://mayankkhatima.blogspot.com/2010/09/14.html

Virendra Singh Chauhan said...

Madhav..... Apko dher sara pyaar.....................

नीलम शर्मा अंशु said...

कान्हा !

सुदामा से मिलती-जुलती शक्ल वाले दर्शन कब दोगे। बेचैन है देखने के लिए कि अब कितने स्मार्ट लगते हो।

mrityunjay kumar rai said...

@ भाटिया जी
नमस्कार
हिम्मत बढाने के लिए धन्यावाद

Ashish (Ashu) said...

aapka blog dekha..bahut hi acha hai laga...aapke blog ke liye meri bahut bahut subh kamnaye...appse ek reqest bhi hai plezz blog ke templet me madhav ki new photo lagayiye..thori achi plezz..

 
Copyright © माधव. All rights reserved.
Blogger template created by Templates Block Designed by Santhosh
Distribution by New Blogger Templates