Wednesday, November 17, 2010

एक नया हवाई जहाज

बड़े पापा मेरे और राघव भैया के लिए छठ के दिन दो हवाई जहाज खरीद लाये . हवाई जहाज पाकर मेरे खुशी का ठिकाना नहीं रहा. हम दोनों भाई अपना अपना जहाज लेकर रेस लगाते है , बड़ा मजा आता है . राघव भैया कहते है की वो बड़ा होकर पायलट बनेंगे







3 comments:

संजय भास्कर said...

BAHUT KHOOB MADAV
LAGE RAHO

Rajeev Bharol said...

बहुत खूब छोटे उस्ताद.

रानीविशाल said...

बहुत प्यारा है यह नया हावाई जहाज़ :)
अनुष्का

 
Copyright © माधव. All rights reserved.
Blogger template created by Templates Block Designed by Santhosh
Distribution by New Blogger Templates