Sunday, November 7, 2010

दिवाली की कुछ तस्वीरें




रंगोली बनाया मैंने


भगवान जी


पटाखों के आवाज के डर से रोने लगा, और मम्मी के पास किचेन में चला गया


एक बम और फटा !


पापा के साथ

6 comments:

कविता रावत said...

Bahut sundar tasveeren...
Deep parv kee aapko aur pure pariwar ko haardik shubhkamnayne

Alok Mohan said...

bahut hi badiya

M VERMA said...

बहुत सुन्दर तस्वीरें
पटाखे डरावने होते ही हैं

रंजन said...

क्या शेर पटाखों से डर गए... आज नहीं डराने का...

प्यार..

यश(वन्त) said...

बहादुर बच्चे कभी डरते नहीं और न ही डर कर रोते हैं...
वैसे तस्वीरें बहुत अच्छी हैं :)

NEHA MATHEWS said...

आपको रंगोली बनाता देख हमारे देश की संस्कृति व आपके संस्कारों को देखकर गर्व हुआ|अच्छा लगता है आज भी हमारे घरों में त्योहारों में रंगोली बनाई जाती है|
मेरी बहने भी हर साल त्योहारों पर ऐसे ही रंगोली बनाया करती है|दीपावली की शुभकामनाये|

 
Copyright © माधव. All rights reserved.
Blogger template created by Templates Block Designed by Santhosh
Distribution by New Blogger Templates