Thursday, November 18, 2010

नयी गाडी:दादाजी का तोहफा

कल दादाजी स्कुल जा रहे थे , जाते समय मैंने दादाजी को गाडी लाने के लिए कहा . शाम को दादाजी घर आये तो गाडी साथ में थी . गाडी देख कर मै बहुत खुश हुआ .वैसे तो दिल्ली में मेरे पास ऐसी गाडी थी. पर दादाजी की खरीदी ये गाडी मेरे लिए बहुत ख़ास है












4 comments:

यशवन्त said...

Enjoy the riding!:))

God Bless!

Vijai Mathur said...

Madhav ,
Yah gadee Delhi le jauge ya aglee baar yahan aakar baithoge.
Mere ghar apnee gadee per baith kar aao to yahan tumhen ghumayen.

रानीविशाल said...

सच मुच माधव ये बहुत ख़ास है ...इस प्यार का कोई मोल नहीं
तुम्हारी बातें जान कर मुझे भी आपने दादू दादी बहुत याद आने लगे :(
अनुष्का

सैयद | Syed said...

हमें कब घूमाओगे, अपनी इस गाडी में ? :)

 
Copyright © माधव. All rights reserved.
Blogger template created by Templates Block Designed by Santhosh
Distribution by New Blogger Templates