Tuesday, January 5, 2010

पैम्पर्स

आज कल बहुत ठण्ड पड़ रही है जैसा की मै दादा दादी से सुन रहा है . दादा दादी मुझे स्वेटर से लाद दे रहे है . थर्मल, , स्वेट शर्ट ,स्वेटर, जैकेट , मंकी कैप, दास्ताने , मोज़े , जूते पहना दिए जा रहे है मुझे . मै ये सब पहन कर कभी कभी एलियन लगने लगता हूँ . अभी मेरा डाइपर ख़तम हो गया था , ठण्ड में इसकी बहुत जरुरत है सो पहुच गया डाइपर लेने के लिए और पैम्पर सबसे बड़ा पैकेट लिया .







2 comments:

Mired Mirage said...

बढ़िया।
घुघूती बासूती

शोभना चौरे said...

achha kiya jo daipar khreed liya .

 
Copyright © माधव. All rights reserved.
Blogger template created by Templates Block Designed by Santhosh
Distribution by New Blogger Templates