Wednesday, May 11, 2011

माधव और उसकी बाते

आज माधव स्कुल नहीं गया . कल माधव को स्कुल में दो- तीन लुज मोसन हुआ , मैडम ने आज रेस्ट करने की सलाह दी थी , सो आज माधव की छुट्टी है . वैसे घर पर माधव को कोई दिक्कत नहीं हुई है और बिलकुल स्वस्थ है .

माधव जी सुबह बोले " पापा कामूट (कम्पूटर ) गेम देखना है".Monster Truck Challenge नाम का गेम बड़े चाव से देखते है . और हर बार रेस में गोल्ड लेने की ही बात करते है . कभी कभी पूछते है " पापा गाड़ी कौन चला रहा है " . मै बोलता हूँ " माधव "

मै घर से ऑफिस के लिए निकला तो पीछे पड़ गए कि मुझे भी घूमने जाना है , रिश्वत देनी पडी , जनाब को एक डेरी मिल्क के दस रूपये वाला चोकलेट देकर फुसलाया तब जाकर ऑफिस आया .

माधव का हर लम्हा लिखने लायक है , बचपन वाकई बहुत भोला और सुंदर होता है और बच्चे भगवान का रूप होते है.



5 comments:

नीरज जाट जी said...

रिश्वत?????
अन्ना हजारे को पता चल गया तो?

Akshita (Pakhi) said...

घर पर तो मस्ती ही मस्ती माधव की...

_____________________________
पाखी की दुनिया : आकाशवाणी पर भी गूंजेगी पाखी की मासूम बातें

Patali-The-Village said...

बहुत अच्छी पोस्ट| धन्यवाद|

वीना said...

वाकई बच्चे भगवान का रूप होते हैं....

डॉ. नागेश पांडेय "संजय" said...

बहुत प्यारी रचना . बधाई . आज है मेरे बेटे सृजन का जन्म दिन ...देखें - बाल मंदिर

http://baal-mandir.blogspot.com/

 
Copyright © माधव. All rights reserved.
Blogger template created by Templates Block Designed by Santhosh
Distribution by New Blogger Templates