Wednesday, July 7, 2010

"भारत बंद" है "माधव बंद" नहीं( 05/07/2010)

परसो भारत बंद था इसलिए जाम के चलते पापा ऑफिस नहीं जा पाए .मैंने इस बंद का भरपूर लाभ उठाया , पापा के साथ खूब खेला .जब घर में खेल कर बोर हो गया तो बाहर जाने की जिद की . पापा नहीं माने तो रोने लगा , फिर मम्मी ने कहा की आज "भारत बंद" है "माधव बंद" नहीं है . सुबह से ही दिल्ले में बादल छाए हुवे थे और हल्की बारिस भी हुई थी ,बारिस होने के बाद की धुप बहुत कड़ी होती है , उसी कड़ी धुप में पापा मुझे लेकर बाहर गए . एक घंटे में पार्क में खेला फिर वापस घर आया .




















आज "भारत बंद" है "माधव बंद" नहीं


















आज "भारत बंद" है "माधव बंद" नहीं

16 comments:

आचार्य उदय said...

सुन्दर।

शुभम जैन said...

areee madhav to kabhi band ho hi nahi sakta...hamari masti kabhi nahi rukegi...:D :D

समवेत स्वर/Samvet Swar said...

नॉन स्टॉप मस्ती ! यूं ही लगे रहो कान्हा।

नीरज जाट जी said...

बेटा, अपने पापा से कहो कि अब छोटे-छोटे पार्क अच्छे नहीं लगते। किसी बडे पार्क में ले चलो। किसी नेशनल पार्क में।

राज भाटिय़ा said...

अरे भारत खुला कब था ..नीरज जाट की बात सही है

सुशील कुमार छौक्कर said...

सच इस दिल्ली में बहुत हरियाली है। माधव के लिए ढेर सारा प्यार।

अक्षयांशी सिंह सेंगर-Akshayanshi said...

माधव तुम तो इन नेताओं से बहुत ऊपर हो...बंद नेताओं का है तुम तो इनको बंद करना....

monali said...

Ur son is very Lucky to have u... he is too cute as well...

monali said...

Ur son is very Lucky to have u... he is too cute as well...

रंजन said...

mast kalandar

maaddav.......


love

Shah Nawaz said...

:-) बिलकुल सही कहा..... बेहतरीन!

माधव said...

@ Monali

thanx

कुमार राधारमण said...

यह जरूरी है कि बच्चे इस उम्र में बंद-वंद से परिचित न हों।

Akshita (Pakhi) said...

इसे कहते हैं वक़्त का सही फायदा उठाना...मजेदार.

anjana said...

:-)



जाने नवरात्रे के बारे मे
ruma-power.blogspot.com पर

संजय भास्कर said...

बिलकुल सही कहा..... बेहतरीन!

 
Copyright © माधव. All rights reserved.
Blogger template created by Templates Block Designed by Santhosh
Distribution by New Blogger Templates