Monday, July 11, 2011

दिल्ली वापस

कल(१० जुलाई ) मै डलहौजी से दिल्ली आ गया . पांच दिन की डलहौजी यात्रा में मैंने खूब मजा किया . डलहौजी, चम्बा जिले में स्थित बहुत सुंदर और स्वास्थ्यानुकूल सैरगाह है . इस उमस भरे दिन में भी वहाँ रजाई ओढकर सोना पड़ता था. बारिस तो रोज होती थी और जम कर होती थी. डलहौजी जितना हरा भरा हिल स्टेसन मम्मी पापा ने पहले नहीं देखा था . देवदार के घने जंगलो के बीच बसा डलहौजी एक साफ़ और सुंदर सहर है .

डलहौजी में मैंने गांधी चौक , सुभाष चौक, कालाटॉप, खजियार (भारत का स्वीटजरलैंड), चमेरा डैम, चमेरा लेक और रोक गार्डन(चम्बा) का भ्रमण किया .

डलहौजी से वापस दिल्ली आते समय बनीखेत के पास एक बहुत बड़ा भू स्खलन हो गया था जिसके चलते वापसी में देर हुई जिससे परेशानी का सामना करना पड़ा .

पूरा यात्रा वृतांत मै आगे बताउंगा , कुछ तस्वीरो के साथ छोड़ जाता हूँ .



खजियार



डलहौजी




3 comments:

जाट देवता (संदीप पवाँर) said...

मणिमहेश आते जाते समय हम भी इन रास्तों पर से गये है।

रंजन (Ranjan) said...

good!!

"रुनझुन" said...

बहुत खूब..दोनों ही फोटो बहुत सुन्दर हैं... और भी ढेर सारी फोटोग्राफ्स और बातों का इंतजार है...

 
Copyright © माधव. All rights reserved.
Blogger template created by Templates Block Designed by Santhosh
Distribution by New Blogger Templates